उर्दू के मशहूर शायर राहत इन्दौरी का इंतकाल, अस्पताल में करा रहे थे कोरोना का इलाज

0
70

उर्दू के मशहूर शायर राहत इंदौरी का मंगलवार को दिल का दौरा पड़ने से इंत’काल हो गया. 70 वर्षीय राहत इन्दौरी हाल ही में कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे, जिसके इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती थे. इंदौर के कलेक्टर ने उनके नि’धन की पुष्टि की है. जिलाधिकारी मनीष सिंह ने बताया, “कोविड-19 से संक्रमित इंदौरी का अरबिंदो इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (सैम्स) में इलाज के दौरान नि’धन हो गया. उन्होंने बताया कि इंदौरी हृदय रोग, किडनी रोग और मधुमेह सरीखी पुरानी बीमारियों से पहले से ही पी’ड़ित थे.

सैम्स के छाती रोग विभाग के प्रमुख डॉ. रवि डोसी ने बताया, “जब उन्हें अस्पताल लाया गया तब उनके दोनों फेफड़ों में निमोनिया हो गया था.” उन्होंने बताया, “सांस लेने में तकलीफ के कारण उन्हें आईसीयू में रखा गया था और ऑक्सीजन दी जा रही थी लेकिन तमाम कोशिशों के बावजूद हम उनकी जान नहीं बचा सके.” इंदौरी के बेटे और युवा शायर सतलज राहत ने आज सुबह ही उनके स्वास्थ्य के बाबत जानकारी दी थी. कोविड-19 के प्रकोप के कारण राहत इन्दौरी पिछले साढ़े चार महीनों से घर में ही थे. वह केवल अपनी नियमित स्वास्थ्य जांच के लिये घर से बाहर निकल रहे थे.”

उन्होंने बताया कि इंदौरी को पिछले पांच दिन से बेचैनी महसूस हो रही थी और डॉक्टरों की सलाह पर जब उनके फेफड़ों का एक्स-रे कराया गया तो इनमें निमोनिया की पुष्टि हुई थी. बाद में जांच में वह कोरोना वायरस से संक्रमित पाये गये थे. बेहद कम लोग जानते हैं कि शायरी की दुनिया में कदम रखने से पहले, इंदौरी एक चित्रकार और उर्दू के प्रोफेसर थे. उन्होंने हिन्दी फिल्मों के लिये कई गीत भी लिखे थे.