देश में ईमानदारी से टैक्स चुकाने वाले टैक्सपेयर्स के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज गुरुवार को ‘ट्रांसपेरेंट टैक्सेशन- ईमानदारों के लिए सम्मान’ प्लेटफॉर्म की शुरुआत की. टैक्स सिस्टम में सुधार ला कर उसे सरल बनाने के लिए इस प्लेटफार्म को लॉन्च किया है.

इस अवसर पर पीएम मोदी ने कहा कि नए प्लेटफॉर्म के लॉन्च होने से करदाता कर चुकाने में आसानी महसूस करेंगे, साथ ही उनमें टैक्स को लेकर गड़बड़ी का भय भी ख़त्म होगा. उन्होंने कहा कि देश में चल रहे स्ट्रक्चरल रिफॉर्म्स का सिलसिला आज एक नए पड़ाव पर आ पहुंचा है.

पीएम मोदी ने कहा कि ईमानदार करदाता राष्ट्र निर्माण में बड़ी भूमिका निभाता है. प्रधानमंत्री ने करदाताओं के लिए अधिकार पत्र का भी ऐलान किया. उन्होंने देशवासियों से आगे बढ़कर ईमानदारी के साथ टैक्स चुकाने का आह्वान किया. इस अवसर पर उन्होंने कहा कि 130 करोड़ की आबादी वाले देश में मात्र डेढ़ करोड़ लोग ही टैक्स पे करते हैं. प्रधानमंत्री ने कहा कि अब कर प्रणाली फेसलेस हो रही है, यह करदाता के लिए निष्पक्षता और एक भरोसा देने वाली व्यवस्था है.

उन्होंने कहा, ‘कर मामलों में फेसलेस अपील की सुविधा 25 सितंबर यानी दीन दयाल उपाध्याय के जन्मदिन से पूरे देशभर में उपलब्ध होगी. अब रिटर्न से लेकर रिफंड तक की व्यवस्था को पूरी तरह ऑनलाइन किया गया है. इस नए स्लैब सिस्टम में व्यर्थ कागजों और दस्तावेजों को जुटाने की अनिवार्यता भी समाप्त हो गयी है. पीएम मोदी ने कहा कि प्रक्रियाओं की जटिलताओं के साथ-साथ देश में टैक्स भी कम किया गया है. पांच लाख रुपये की आय पर अब टैक्स जीरो है. बाकी स्लैब में भी टैक्स कम हुआ है.