जेल में कै’ दियों को उनकी गुनाहों की स’ जा दी जाती है। जे’ ल में लोगों को सिर्फ जरुरी चीजें ही मुहैया की जाती है। लेकिन फिर भी उनके साथ जानवरों जैसा बर्ताव नहीं किया जाता। सऊदी अरब को अपने देश के सख्त नियमों के लिए जाना जाता है। यहां छोटी-छोटी गलतियों के लिए भी कड़ी स’ जा का प्रावधान है। ऐसे में अंदाजा लगाया जा सकता है कि यहां जेलों में कै’ दियों के साथ कैसा बर्ताव किया जाता होगा। हाल ही में सऊदी अरब के जे’ ल से कुछ ऐसी तस्वीरें लीक हुई, जिन्हें देखकर ये साफ़ पता चल रहा है कि इन कै: ‘दियों के साथ कैसे जा’नवरों सा बर्ताव किया जा रहा है। इन्हें बेंत से पी’ टा जाता है। साथ ही इन कै’दियों को डेड बॉडी के साथ सुलाया जाता है। बताया जा रहा है कि ये कै’ दी अफ्रीका से इलीगल तरीके से सऊदी अरब में पकडे गए थे। इसके बाद इन्हें स’जा में टॉ’ र्चर किया जा रहा है।

सऊदी अरब के डि’ टेंशन सेंटर से कुछ तस्वीरें लीक हुई हैं। यहां अफ्रीका के माइग्रेंट को जा’नवरों की तरह जे’ ल में ठूस-ठूसकर रखा जाता है। ये तस्वीरें कोरोना काल में सामने आई हैं। संडे टेलीग्राफ में छपी तस्वीरे खौ’ फना’ क हैं। इसमें एक छोटे से जेल में कई कैदियों को जानवर की तरह रखा गया है। यहां उन्हें बेतहाशा पी’ टा जाता है।

इन कै’ दियों को बेंत से पी’टा जाता है। साथ ही इन्हें ला’ शों के साथ सोने के लिए मजबूर किया जाता है। कोरोना में सऊदी अरब के ऊपर अचानक इली’ गल मा’ इग्रेंट्स का प्रेशर बढ़ने लगा, जिसके बाद उसने कै:’ दियों को एक साथ बंद कर दिया गया। बता दें कि सऊदी अरब में छोटे-छोटे गु’ नाहों के लिए भी कड़ी सजा का प्रावधान है। ऐसे में यहां अ’पराधि’यों को मौ’त से पहले मरने की फीलिंग दी जाती है।

लीक हुई तस्वीरों में एक में कै’दियों के कपड़े उतारकर उन्हें मा’रता दिखाया गया। इसमें वो जमीन पर लेटे दिखे। इन्हें बु’री तरह पी’टा जाता है। अफ्रीका से ये लोग जॉब की तलाश में सऊदी अरब आए थे। लेकिन कोरोना में इनकी नौकरी चली गई और फिर सरकार पर वायरस के संक्रमण को फैलने से बचाने के लिए उन्हें कै’द करने का रास्ता बचा।