हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, इस्लाम धर्म के पैगंबर मुहम्मद (सल्ल) के तथाकथित अ’पमा’नज’नक कार्टून को लेकर मुस्लिम दुनिया के निशाने पर आए फ्रांस के राष्ट्रपति इम्मैन्युअल मैक्रों को भारत का साथ मिला है। भारतीय विदेश मंत्रालय ने एक बयान जारी कर न सिर्फ मैक्रों पर किए जा रहे व्यक्तिगत हम’लों की निं’दा की।

विदेश मंत्रालय ने बयान जारी कर कहा कि हम फ्रांस के शिक्षक पर बेहद हिं’सक तरीके से किए गए आ’तंकवा’दी ह’मले की निं’दा करते हैं। हम उनके परिवार और फ्रांस की जनता के प्रति अपनी संवेदना प्रकट करते हैं। किसी भी हालत में आ’तंकवा’द के किसी भी तरीके को न्यायोचित नहीं ठहराया जा सकता।


भारत की इस प्रतिक्रिया का नई दिल्ली में फ्रांस के राजदूत ने स्वागत किया है। राजदूत इमैनुअल लेनिन ने कहा कि आ’तंकवा’द के मुद्दे पर भारत और फ्रांस हमेशा एक दूसरे पर भरोसा कर सकते हैं।

बता दें कि विवा’दित कार्टूनों के प्रकाशन और फ्रांसीसी राष्ट्रपति के समर्थन के बाद मुस्लिम दुनिया में फ्रांसीसी उत्पादों के ब’हिष्का’र की बड़ी मुहिम शुरू हो गई है। इसके साथ मुस्लिम दुनिया में बड़े पैमाने पर इम्मैन्युअल मैक्रों के ‘खि’ला’ फ वि’ रोध-प्र दर्शन हो रहे है।