यूं तो दुनिया में हर इन्सान चाहे कितना ही अमीर हो, लेकिन और दौलतमंद होने की ख्वाहिश रखता है. लेकिन ऐसा सबके साथ नहीं होता कि हर ख्वाहिश पूरी हो जाये. कहते हैं ऊपरवाला जब देता है तो छप्पर फाड़ कर देता है, लेकिन ऐसी किस्मत भी किस्मत वालों को ही नसीब होती है. इसका जीता जागता सबूत है तंजानिया का एक मजदूर. इस मजदूर की किस्मत ऐसी पलटी कि अब यह करोड़पति बन गया है. दरअसल, एक खदान में काम करते वक्त इस शख्स को दो बेशकीमती रत्न मिले. जब इन्हें इसने सरकार के हवाले किया तो उसे बदले में 7.74 बिलियन तंजानिया शिलिंग, यानि 25 करोड़ 36 लाख रुपये मिले.

दोनों रत्न गहरे बैंगनी और नीले रंग के हैं. इनमें से एक का वजन 9.27 किलोग्राम और दूसरे का 5.103 किलोग्राम है. तंजानिया के राष्ट्रपति ने इन रत्नों को राजधानी के संग्रहालय में रखने का आदेश दिया है. यह कीमती रत्न तंजानिया के रहने वाले सैनिनियू लेजर को देश के उत्तर में स्थित एक खदान में मिले. जानकारी के मुताबिक तंजानाइट रत्न सिर्फ पूर्वी अफ्रीका के उत्तरी क्षेत्र में ही पाए जाते हैं. इन दो बेशकीमती रत्नों को तंजानिया के एक बैंक ने खरीदा है. 30 बच्चों के पिता सैनिनियू लेजर को जब यह ईनाम की राशि दी गई तो इसका लाइव प्रसारण भी किया गया. इस मौके पर उन्हें राष्ट्रपति जॉन मगुफुली ने फोन करके बधाई भी दी.

रिपोर्ट्स के मुताबिक सैनिनियू का मुख्य व्यवसाय पशुपालन है और समय मिलने पर वो रत्नों की तलाश करता है, उसे ये रत्न पिछले हफ्ते ही मिल गए थे, हालांकि इनकी कीमत और खासियत का पता तब चला जब वो इन रत्नों को बेचने के लिए सरकारी एजेंसी के पास पहुंचा. मीडिया में आई खबरों के मुताबिक ये शख्स अपने पैसों से एक स्कूल और एक शॉपिंग मॉल खोलना चाहता है. खुद कभी स्कूल न जाने की वजह से वो चाहता है कि उसके बच्चे और आसपास के दूसरे गरीबों के बच्चे इस स्कूल में अपनी शिक्षा लें.