उड्डयन नियामक नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने मंगलवार को कहा कि निर्धारित अंतरराष्ट्रीय यात्री उड़ानों का निलंबन 30 अप्रैल तक बढ़ा दिया गया है। उड़ानें कोरोना वायरस के चलते निलंबित की गई थी। डीजीसीए ने कहा, ‘‘हालांकि, अंतरराष्ट्रीय तय उड़ानों को सक्षम प्राधिकारी द्वारा चुनिंदा मार्गों पर एक-एक मामले के आधार पर अनुमति दी जा सकती है।’’

कोविड-19 महामारी के कारण 23 मार्च, 2020 से भारत में निर्धारित अंतरराष्ट्रीय यात्री सेवाएं निलंबित हैं। हालांकि विशेष अंतरराष्ट्रीय उड़ानें मई से वंदे भारत मिशन के तहत और जुलाई से चुनिंदा देशों के साथ द्विपक्षीय ‘एयर बबल’ व्यवस्था के तहत संचालित हो रही हैं।

भारत ने अमेरिका, ब्रिटेन, यूएई, केन्या, भूटान और फ्रांस सहित 27 देशों के साथ ‘एयर बबल’ समझौता किया है। दो देशों के बीच इस ‘एयर बबल’ समझौते के तहत, विशेष अंतररष्ट्रीय उड़ानें उनके क्षेत्र के बीच उनकी एयरलाइंस द्वारा संचालित की जा सकती है। डीजीसीए के परिपत्र ने यह भी कहा गया कि निलंबन अंतरराष्ट्रीय ऑल-कार्गो संचालन और इसके द्वारा अनुमोदित उड़ानों के संचालन को प्रभावित नहीं करता है।