सऊदी किंगडम के आंतरिक मंत्रालय के अनुसार, सऊदी अरब सोमवार 17 मई को अपनी भूमि, समुद्र और हवाई सीमा खोलेगा।

कोरोना महा’मारी के चलते सऊदी अरब ने अपनी सीमाओं को ब्लॉक किया हुआ था। अब देखना होगा कि सऊदी प्रशासन किन देशों को नागरिकों को आने की अनुमति देता है। माना जा रहा है कि भारत की उड़ानों को सऊदी अरब की और से इजाजत नहीं मिलेगी। दरअसल, गल्फ के सभी देशों ने भारत की उड़ानों पर पाबं’दी लगाई हुई है।


प्रिवेंटिव मेडिसिन के सहायक उप मंत्री डॉ अब्दुल्ला असिरी ने शनिवार को सउदी लोगों से आग्रह किया कि वे 17 मई के बाद अपनी विदेश यात्रा का इरादा रखें, लेकिन चेता’वनी दी कि यह उन्हें क्वारंटाइन में समय बिताना होगा। दरअसल, प्रत्येक देश के नियम एक दूसरे से भिन्न होते हैं और “प्रतिरक्षित व्यक्तियों को छूट नहीं दी जा सकती है।”

सऊदी स्वास्थ्य मंत्रालय (MoH), ने कहा है कि किंगडम में प्रतिरक्षित व्यक्तियों के लिए कोई क्वारंटाइन की आवश्यकता नहीं है यदि वे C’OVID -19 से संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आए हो।


MoH ने कहा कि COV’ID-19 वैक्सीन प्रतिरक्षा प्रणाली को उत्तेजित करने के लिए एंटीबॉडी का उत्पादन करने के लिए काम करता है, गं’भीर लक्षणों के जोखि’म को कम करता है, और दूसरों को संचरण भी कम कर सकता है।