भारत ने कोरोनावायरस के खि’लाफ देश की लड़ा’ई में मदद करने के लिए 60 टन लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन (LMO) भेजने के लिए सऊदी अरब को धन्यवाद दिया है।

भारत के पेट्रोलियम, प्राकृतिक गैस और इस्पात मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने ट्वीट किया, 60 टन तरल मेडिकल ऑक्सीजन ले जाने वाले तीन शिपिंग कंटेनरों के 6 जून को मुंबई पहुंचने की उम्मीद है, और आने वाले महीनों में और 100 कंटेनरों के आने की उम्मीद है।

प्रधान ने कहा, “सऊदी अरब का यह इशारा सऊदी अरब के नेतृत्व और प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के बीच घनिष्ठ मित्रता और गर्मजोशी को दर्शाता है।” मंत्री ने कहा कि शुरुआती तीन कंटेनर और अतिरिक्त कंटेनर जो बाद में आने की उम्मीद है।

“सऊदी सरकार के सद्भावना संकेत के रूप में छह महीने के लिए इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन लिमिटेड (आईओसीएल) के पास रहेंगे।” उन्होंने कहा, “आईओसीएल देश में आयात के लिए वाणिज्यिक शर्तों पर लिंडे दम्मम से एलएमओ प्राप्त करेगा।”

प्रधान ने COVID-19 महामारी के खिलाफ भारत के प्रयासोंके लिए किंगडम के समर्थन की प्रशंसा की और कहा कि यह “हमारी गहरी दोस्ती और पारिवारिक संबंधों की अभिव्यक्ति है जो अंततः हमारी सभी बातचीत का मूल है।” सऊदी अरब ने अप्रैल में 80 टन एलएमओ भारत को भेज दिया ताकि आपातकालीन गैस की गंभी’र कमी को कम करने में मदद मिल सके।