बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने आजादी के 50 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में गुरुवार को देश भर में 50 नई मस्जिदें खोलीं। इन मस्जिदों का निर्माण $ 1 बिलियन के निर्माण कार्यक्रम के तहत हुआ है। जो 2017 में शुरू हुआ। इन प्रोजेक्ट के तहत 560 “मॉडल” मस्जिदें हैं, जिनमें सामुदायिक और शैक्षिक सुविधाएं भी हैं, जिन्हें स्थानीय धार्मिक और शिक्षा केंद्रों के रूप में बनाया जा रहा है।

हसीना ने ढाका में अपने आधिकारिक निवास, गणभवन से लगभग 50 मस्जिदें का उदघाटन किया, और आशा व्यक्त की कि वे इस्लाम की अच्छी छवि को बहाल करने और उ’ग्रवाद को जड़ से खत्म करने में मदद करेंगी। उन्होने कहा कि “हमने देखा है कि कैसे कुछ लोग धर्म के नाम पर आ’तं’कवाद की ओर रुख करते हैं।”

हसीना ने कहा कि लोगों को मा’रना और न’फरत फैलाना इस्लाम की छवि खराब करता है। “राजनेताओं, नागरिक समाजों और शिक्षकों सहित सभी को आ’तं’कवाद को जड़ से खत्म करने के लिए मिलकर काम करने की जरूरत है। लोगों को यह समझने की जरूरत है कि कोई दूसरों को मा’रकर स्वर्ग नहीं जाएगा।

देश के पहले राष्ट्रपति और हसीना के पिता शेख मुजीबुर रहमान की याद में आने वाले महीनों में 100 और 50 मस्जिदें खोली जाएंगी, क्योंकि बांग्लादेश भी इस साल उनकी जन्मदिन शताब्दी मना रहा है। रहमान ने देश को पाकिस्तान से अलग करने के लिए बांग्लादेश में स्वतंत्रता सं’ग्राम का नेतृत्व किया था।