सऊदी अरब ने घोषणा की है कि इस साल की हज यात्रा 60,000 लोगों तक सीमित नहीं होगी, इस बार भी कोरो’ना महामारी का हवाला देकर हज को सीमित किया गया है।

सऊदी अरब की और से जारी किए गए हज प्लान के अनुसार, इस साल का हज, जो जुलाई के मध्य में शुरू होगा, 18 से 65 वर्ष की आयु तक के लोगों तक ही सीमित रहेगा। हज मंत्रालय ने कहा कि इन लोगों का भी टीकाकरण अनिवार्य होगा।

पिछले साल के हज में, सऊदी अरब में पहले से रह रहे कम से कम 1,000 लोगों को हज में भाग लेने के लिए चुना गया था। जिसमे 160 विभिन्न देशों के एक तिहाई नागरिक शामिल थे। इसके अलावा एक तिहाई सऊदी सुरक्षाकर्मी और चिकित्सा कर्मचारी थे।

हर साल, दुनिया भर से 2 मिलियन तक मुसलमान हज करते हैं। सऊदी अरब 632 में मलेरिया के प्रकोप, 1821 में हैजा और 1865 में एक और हैजा के कारण हज को सीमित कर चुका है।

हाल ही में, सऊदी अरब को एक अलग कोरो’नावायरस से खत’रे का सामना करना पड़ा, जो कि मध्य पूर्व MERS का कारण बना है।  हाल के वर्षों में, सऊदी अधिकारियों ने इबोला वायरस से प्रभावित देशों से आने वाले तीर्थयात्रियों पर भी प्रतिबंध लगा दिया है।