कनाडाई मुस्लिम परिवार के समर्थन में शुक्रवार को हजारों लोगों ने मार्च किया। जिसकी पिछले रविवार को एक पिक-अप ट्रक के जरिये कुचल’कर ह’त्या कर दी गई थी। पुलिस से इस अप’रा’ध को आतं’की और घृ’णा अपरा’ध के रूप में वर्णित किया।

इस हम’ले में एक परिवार के तीन पीड़ियों के लोगों की जान चली गई। ये सभी घर के पास शाम की सैर के लिए निकले थे। परिवार का पांचवां सदस्य, एक 9 वर्षीय लड़का, जो बच गया।

लंदन, ओंटारियो में लोगों ने उस स्थान से लगभग 7 किलोमीटर (4.4 मील) की दूरी पर मार्च निकाला। जहां मस्जिद के करीब इस अपरा’ध को अंजाम दिया गया। यह वह स्थान है जहां आ’रोपी वेल्टमैन को पुलि’स ने गिर’फ्तार किया था।

कुछ लोगों के हाथों में ‘नफरत के लिए कोई जगह नहीं’, ‘नफरत पर प्यार’ लिखा हुआ संदेश था। इसी तरह के कार्यक्रम कनाडा के सबसे अधिक आबादी वाले प्रांत ओंटारियो के अन्य शहरों में भी आयोजित किए गए थे।

मार्च में कॉलेज के 19 वर्षीय छात्र अब्दुल्ला अल जरद ने कहा, “सबसे अच्छी बात सिर्फ संख्या नहीं थी … बल्कि लंदन में हर एक समुदाय से आने वाले लोगों की विविधता थी, जो इस एक साथ आ रहे थे।”

कनाडा के प्रधान मंत्री जस्टिन ट्रूडो ने इन ह’त्या’ओं को “आतं’कवादी हम’ला” कहा है और दूर-दराज़ समूहों और ऑनलाइन नफ’रत पर नकेल कसने की कसम खाई है।