सऊदी गैज़ेट की रिपोर्ट के मुताबिक़, सऊदी के जनरल डायरेक्टरेट ऑफ पासपोर्ट यानी जवाज़त ने एक नया निर्देश जारी किया है। जिसमें final exit visa के वैधता अवधि के दौरान भी सऊदी ना छोड़ने पर प्रवासियों से 1,000 riyals जुर्मा’ना लेने का प्रावधान है।

आपको बता दे की इक़ामा यानी जो आपका वीज़ा है उसकी वैधता 5 साल होती है। वहीं resident के iqama card की वैधता 5 साल होती है। जिसके बाद उसे renew कराया जाता है। पहली बार renew न कराने पर 500 riyals का जुर्माना लगाया जाता है।

जवाज़त ने बताया कि दूसरी बार renew ना कराने पर 1000 रियाल का जुर्मा’ना लगाया जाता है।

वहीं आगे निर्देश दिए गए कि गलती तीसरी बार दोहराई जाती है तो आरोपी को देश निकाला दे दिया जाता है। अगर यह गलती तीसरी बार दोहराई जाती है तो आरोपी को देश निकाला दे दिया जाता है। इसके अलावा iqama renew करने के लिए renewal fees, यातायात उल्लं’घन का भुगतान, फिंगरप्रिंट का पंजीकरण और कामगार का अपने परिवार के 15 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्ति के साथ फोटो की जरूरत होगी।