बेबाक और आक्रामक अंदाज के लिए मशहूर पुर्तगाल के स्टार स्ट्राइकर क्रिस्टियानो रोनाल्डो ने गु’स्से में एक फैसला लिया और कोका कोला कंपनी को 293 अरब रुपये का नुक’सान हो गया। घ’टना हंगरी के खि’लाफ पुर्तगाल टीम के यूरो 2020 के मैच से पहले की है। स्टार स्ट्राइकर ने अपने सामने से कोका कोला की दो बोतलें हटा दीं और इसे बनाने वाली कंपनी कोका कोला (Coca-Cola) को करीब 3 खरब रुपये की चपत लग या।


यूरो कप की डिफेंडिंग चैंपियन पुर्तगाल टीम के कप्तान क्रिस्टियानो रोनाल्डो (Cristiano Ronaldo) मैच से पहले की एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कोल्ड ड्रिंक (Cold Drink) देखकर बिफर पड़े। उन्होंने अपने सामने कोका कोला (Coca-Cola) की बोतलें देखकर नाराजगी जाहिर की। रोनाल्डो (Ronaldo) ने गुस्से में चिल्लाकर कहा, “कोल्ड ड्रिंक (Coca-Cola) नहीं, हमें पानी पीने की आदत डालनी चाहिए।” वास्तव में 36 साल के रोनाल्डो (Ronaldo) फिट रहने के लिए किसी भी तरह के कोल्ड और एयरेटेड ड्रिंक से दूर रहते हैं।


कोका कोला 11 देशों में खेले जा रहे UEFA यूरो कप 2020 का ऑफिशियल स्पॉन्सर है। कोका कोला (Coca-Cola) ने अपनी ब्रैंड वेल्यू बढ़ाने के लिए सभी प्रेस कॉन्फ्रेंस में कोक की बोतलों को डिस्प्ले के तौर पर लगाने का फैसला लिया था। हंगरी के खिलाफ मैच से पहले रोनाल्डो (Ronaldo) और पुर्तगाल के कोच फर्नांडो सांतोस प्रेस कॉन्फ्रेंस के लिए पहुंचे तो कोक (Coca-Cola) की 2 बोतलें पहले से टेबल पर पड़ी थीं। अपने अनुशासित डाइट के लिए मशहूर रोनाल्डो (Ronaldo) कोक (Coca-Cola) की बोतलें देखकर गुस्से में आ गए और उन्हें तुरंत हटा दिया।