एक युवा अमीराती महिला की बहादुरी और समय पर कार्रवाई के बारे में मीडिया रिपोर्टें वायरल हो गई हैं, जिसमें एक भारतीय ट्रक चालक की गाड़ी में आग लग गयी, तभी अमीराती महिला ने बहादुरी दिखाते हुए पी’ड़ित को अबाया से ढक दिया था।रास अल खैमाह अमीरात में शहीद रोड पर दो ट्रकों की टक्कर के बाद आग लग गई।

जवाहर सैफ अल कुमैती के रूप में पहचानी गई 22 वर्षीय महिला, आरएके के शेख खलीफा अस्पताल में अपने एक दोस्त से मिलने जा रही थी, जब उसने घर वापस जाते वक़्त उस व्यक्ति को आग लगाते हुए देखा। तो वह फौरन मदद के लिए भागी।


अजमान की रहने वाली और तेल कंपनी एडनॉक की कर्मचारी जवाहर ने खलीज टाइम्स के साथ अपने साक्षात्कार में स्वीकार किया कि दुर्घ’टना के बाद दो ट्रकों में आग लगने के बाद वह पहली बार दंग रह गई थी। उसने एक आदमी को भी देखा जो दर्द से चिल्ला रहा था और ड’र से मदद के लिए चिल्ला रहा था।

तभी जवाहर हरकत में आ गए। उसने अपनी सहेली से जो उसकी कार में थी, उसे अबाया सौंपने के लिए कहा और उसे अंदर रहने का भी निर्देश दिया। वह पीड़ि’त चालक के पास गई, उसे अबाया से ढँक दिया और उसे शांत करने के लिए कहा, उसे बताया कि मदद रास्ते में है।