संयुक्त अरब अमीरात के लिए भारत से जाने वाली फ्लाइटें हफ्तों से रद्द हैं। करीब तीन महीने से लाखों यात्री इंतजार में हैं। कुछ अपने परिवार तो कुछ रोजगार से दूर हैं। अप्रैल में 10 दिन के लिए फ्लाइटें रद्द होने के बाद से समयसीमा बढ़ती ही जा रही है। सबसे ज्यादा चिंताजनक हालात ऐसे लोगों के हैं जिन्हें लौटने के बाद नौकरी ही न बचा पाने का डर है। कोरोना वायरस के चलते फ्लाइट्स बैन हैं और फिलहाल राहत मिलती भी नहीं दिख रही है।

एतिहाद एयरवेज ने अपने ऑफिशियल ट्विटर हैंडल पर एक यात्री को रिप्लाई करते हुए लिखा कि हमें अभी-अभी इस बात की पुष्टि मिली है कि भारत से उड़ानें 2 अगस्त तक स्थगित हैं। उन्होंने कहा कि हम पूरी तरह से यकीन से नहीं कह सकते कि इस प्रतिबंध को आगे नहीं बढ़ाया जाएगा, क्योंकि यह यूएई के अधिकारियों पर निर्भर करता है। शेड्यूल की अनिश्चितता के कारण आपको वेबसाइट पर फ्लाइट्स की उपलब्धता दिखाई नहीं दे रही है।

एतिहाद ने कुछ दिनों पहले एक बयान जारी कर 28 जुलाई तक फ्लाइट उपलब्ध नहीं होने की जानकारी दी थी। उस बयान में यह भी कहा गया था कि जो लोग भारत, पाकिस्तान, बांग्लादेश और श्रीलंका से पिछले 14 दिनों में दुबई आए हैं, उन्हें देश में कहीं और जाने की इजाजत नहीं होगी। उन्हें 14 दिनों तक क्वारंटीन के नियमों का पालन करना होगा।

बयान में यह भी बताया गया था कि इस प्रतिबंध से कुछ लोगों को छूट दी गई है जिनमें UAE के नागरिक, गोल्डन वीजा होल्डर और राजनयिक शामिल हैं, जिन्होंने COVID 19 से जुड़े मानकों को पूरा किया हो। बयान में कहा गया है, ‘अगर कोविड-19 नियमों के चलते रूट सस्पेंड होने से आपकी फ्लाइट रद्द हुई है या उस पर असर पड़ा है, तो आपको फौरन रीबुकिंग के लिए हमसे संपर्क की जरूरत नहीं है। आप टिकट रखिए और जब फ्लाइट्स दोबारा चलेंगी तो हमसे संपर्क करिए या अपने बुकिंग ऑफिस की मदद से नए प्लान बनाइए।’