बॉलीवुड एक्ट्रेस शिल्पा शेट्टी ने अपने पति राज कुंद्रा की पोर्नोग्राफी मामले में गिरफ्तारी के बाद चल रही खबरों पर रोक के लिए हाईकोर्ट में अर्जी दी है। शिल्पा ने बॉम्बे हाईकोर्ट में दायर याचिका में कहा है कि कई मीडिया हाउस में ऐसी खबरें चल रही हैं, जो उनकी मानहानि कर रही हैं। इस याचिका पर शुक्रवार को हाईकोर्ट में सुनवाई हुई है। मामले पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने कहा शिल्पा के वकील से कहा कि किसी ने पुलिस सूत्रों के हवाले से या शिल्पा शेट्टी के रोने की खबर चलाई तो इसे आप मानाहनि कैसे कह रहे हैं।

मामले की सुनवाई करते हुए जस्टिस जीएस पाटिल ने कहा कि पुलिस सूत्र ने जो कहा है उस पर मीडिया में आई कोई रिपोर्ट कभी भी मानहानि नहीं होती है। कायदे से ऐसा मानने की कोई वजह नहीं है। कोर्ट ने कहा कि आपकी मुवक्किल (शिल्पा शेट्टी) का रोना कैसे एक मानहानि करने वाली खबर है? इस पर शिल्पा शेट्टी के वकील बीरेंद्र सराफ ने अदालत से एक आदेश पारित करने की गुजारिश की।

सुनवाई के दौरान अदालत ने शिल्पा के वकील से कहा कि आपकी क्लाइंट के पति के खिलाफ एक मामला चल रहा है। इस केस को मीडिया कवर कर रहा है और मीडिया को इसकी पूरी आजादी है। हाईकोर्ट इस मामले में हस्तक्षेप नहीं करेगा। आपका क्लाइंट कोई भी हो लेकिन मानहानि को लेकर एक निश्चित कानून है, जिसके तहत अदालत काम करती है।

इसके बाद बॉम्बे हाईकोर्ट ने एक अंतरिम आदेश पारित कर दिया।हाईकोर्ट ने जिन लोगों को अपने लेख हटाने के लिए कहा गया है, उनके अलावा अन्य प्रतिवादियों को एक हलफनामा दाखिल करना होगा। अगली सुनवाई 20 सितंबर को होगी।