नयी दिल्ली – जहाँ बेकाबू होती महंगाई पाकिस्तान में मुंह उठाये खड़ी है वहीँ पेट्रोल की कीमतें दिन प्रातिदिन बढती जा रही है और पाकिस्तान उन् देशों में शामिल हो गया है जिन पर सबसे अधिक विदेशी कर्ज है लेकिन पाकिस्तानी पीएम इमरान खान के लिए यह मुद्दे इतने संवेदनशील नहीं है. जितनी बड़ी समस्या पो’र्न वेबसाइट है. ऐसा ही कुछ आज देखने को मिला जहाँ पाकिस्तानी सरकार सभी गंभीर मुद्दे दरकिनार करते हुए पो’र्न वेबसाइट के पीछे पड़ गयी है. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की नजर में एक समस्या ऐसी है जो इन सबसे ऊपर जान पड़ती है। यह है ‘पॉर्न वेबसाइट्स’ की समस्या। चौतरफा मार झेल रहे देश के पीएम इमरान ने पॉर्न वेबसाइटों को ब्लॉक करने संबंधी एक बैठक की अध्यक्षता की, जिसके बाद उन्हें आलोचना का शिकार होना पड़ रहा है।

पाकिस्तान प्रधानमंत्री कार्यालय ने 21 अक्टूबर को एक ट्वीट किया। इस ट्वीट के जरिए यह जानकारी दी गई कि पीएम इमरान खान ने देश में पॉ’र्न वेबसाइटों को ब्लॉक करने को लेकर बुलाई गई बैठक की अध्यक्षता की। इस बैठक में इमरान खान ने यह भी कहा कि मॉडर्न तकनीक के युग में नई पीढ़ी का अहम योगदान है। मॉडर्न टेक्नोलॉजी डिवाइस और 3जी-4जी के तेजी से प्रसार की वजह से लोग अब हर तरह के कॉन्टेंट तक पहुंच रहे हैं।

अक्सर पाकिस्तान सरकार की आलोचना करने वाली पत्रकार नायला इनायत ने इस पर लिखा, ’99 और समस्याएं हैं लेकिन पॉ’र्न वेबसाइटें पीएम की सबसे बड़ी चिंता हैं।’ बता दें कि हाल ही में पाकिस्तान विश्व बैंक की बनाई उन 10 देशों की सूची में शामिल हो गया है जिनपर सबसे ज्यादा विदेशी कर्ज है। विश्व बैंक की रिपोर्ट के अनुसार पाकिस्तान के विदेशी कर्ज में 8 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। इस साल जून में एक रिपोर्ट में यह भी बात सामने आई थी कि पाकिस्तान की इमरान सरकार 442 मिलियन डाॅलर का उधार ले चुकी है।