मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के रैली में किसानो ने छोड़ दिए एक साथ सैकड़ो मवेशी उत्‍तर प्रदेश विधानसभा चुनाव का महासमर अपने अंतिम दौर में है वही सरकार से नाराज चल रहे किसानो ने मवेशी छोड़ कर साफ संकेत दे दिया है की उनके पास भी ब्रहास्त्र है ऐशे में देखना लाजमी होगा की भाजपा खेमे में और मुख्यमंत्री के पास किसानो के इस रणनीति का क्या काट है

एक ट्वीट में दावा किया गया था की बाराबंकी के किसानो ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की रैली से पूर्व सैकड़ो की तादात में मवेशियों को खुले मैदान में छोड़ दिया
पूर्व नेता रमनदीप सिंह मान की ओर से ट्वीट किए गए वीडियो में बड़ी संख्‍या में आवारा मवेशियों को खुले मैदान में घूमते देखा गया हालंकि मान ने अपने ट्विट को ट्विटर से हटा लिया है

वही आवारा मवेशियों का मुद्दा उत्‍तर प्रदेश में और बड़ा बन गया है साथ ही बाराबंकी के रैली स्थल में छोड़े गए मवेशियों के सन्दर्भ में अभी तक मुख्यमंत्री के तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है बहरहाल सीएम ने एक विडिओ ट्वीट किया जिसमे प्रधानमत्री ने वादा किया है की उत्‍तर प्रदेश में भाजपा की सरकार बनते ही आवारा मवेशियों की समस्या को दूर किया जायेगा

साथ ही उन्होंने एक रैली में कहा की 10 मार्च को इससे संबंधित एक नई कानून वेवस्था लागु की जाएगी जिससे मवेशियों के कारण जनता को जो परेशानियों का सामना करना पड़ता है उससे छुटकारा मिलेगा साथ ही जो पशु दूध नहीं देते उनके गोबर से भी आमदनी कर पाएंगे

सीएम योगी के ट्वीट पर कांग्रेस का पलटवार
पार्टी ने कहा की योगी आदित्‍यनाथ और पीएम मोदी को आवारा मवेशियों की समस्‍या केवल चुनाव के पहले ही नजर आती है